UPI पेमेंट के दौरान फंसा पैसा लौटाने में बैंक या मर्चेंट करें आनाकानी तो यहां करें शिकायत

UPI Transaction Error: पिछले कुछ साल में डिजिटल पेमेंट (Digital Payment) का ट्रेंड भारत में बढ़ा है. डिजिटल पेमेंट में भी यूपीआई (UPI) के जरिए भुगतान करने वालों की संख्या ज्यादा है. यूपीआई से पेमेंट काफी आसान और सुविधाजनक है, लेकिन कई बार ऐसा होता है जब पैसा आपके खाते से कट जाता है, ऐसी स्थिति में बैंक या मर्चेंट आपसे 2-3 दिन इंतजार करने को कहते हैं. आमतौर पर इन 2-3 दिनों में आपका पैसा वापस आ जाता है या मर्चेंट के खाते में चला जाता है. पर कुछ केस में ऐसा भी होता जब न पैसा मर्चेंट को मिलता है और न ही आपके खाते में वापस आ पाता है. ऐसी स्थिति में क्या किया जाए इसे लेकर लोगों में कंफ्यूजन की स्थिति रहती है. आज हम आपको बताएंगे कि ऐसी स्थिति में आपको क्या करना चाहिए.

एनपीसीआई दूर करेगा समस्या

NPCI (नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया) यूपीआई (UPI) ट्रांजेक्शन के लिए एक मिडिएटर के रूप में काम करता है. यानी यूपीआई की सारी पेमेंट इसी सिस्टम के तहत होती है. अगर कभी आपका पैसा ऊपर बताई गई स्थिति में फंस जाता है तो आप एनपीसीआई (NPCI) के जरिए अपना पैसा वापस पा सकते हैं. आपको ऐसे फेल्ड या ऐरर वाले ट्रांजेक्शन के लिए तुरंत एनपीसीआई से संपर्क करना चाहिए. नीचे हम बताएंगे कि आप कैसे एनपीसीआई को शिकायत कर सकते हैं.

इस तरह करें शिकायत

अगर आपका ट्रांजेक्शन 3-4 दिन बाद भी अटका हुआ है तो आपको फौरन एनपीसीआई से संपर्क करना चाहिए. एनपीसीआई तय समय में आपकी समस्या का समाधान करा देगा. एनपीसीआई से आप नीचे बताए गए तरीकों से संपर्क कर सकते हैं.

1. फोन के जरिए

आप एनपीसीआई से अपने ट्रांजेक्शन को लेकर उसके टोलफ्री नंबर पर शिकायत कर सकते हैं. आपको 18001201740 पर कॉल करना होगा. इसके बाद अपने ट्रांजेक्शन नंबर के साथ शिकायत दर्ज कराएं.

2. पोर्टल की मदद से

एनपीसीआई में शिकायत दर्ज करने का दूसरा तरीका पोर्टल से है. इसके लिए आपको एनपीसीआई के पोर्ट पर जाना होगा. वहां GET IN TOUCH वाले ऑप्शन पर क्लिक करें. इसके बाद आपके सामने एक पेज खुलेगा जिसमें एक तरह का फॉर्म बना होगा. आपको उसमें अपना नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर और आपकी समस्या आदि के बारे में भरना होगा. इसके बाद उसे सब्मिट कर दें.

3. ट्विटर के जरिए

अगर आप ट्विटर (Twitter) यूज करते हैं तो आपके पास ये भी शिकायत दर्ज कराने के लिए अच्छा विकल्प है. आपको इसके लिए पहले ट्विटर पर जाकर एनपीसीआई को फॉलो करना होगा. एनपीसीआई को फॉलो करने के बाद उसके प्रोफाइल पेज पर जाएं. अब टॉप पर मैसेज आइकन पर क्लिक करें. इसके बाद अपनी समस्या बताएं. आपको अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए अपना नाम, मोबाइल नंबर, यूपीआई आईडी, ट्रांजेक्शन नंबर, रिसीवर बैंक, सेंडर बैंक व कुछ अन्य जानकारियां देनी होंगी. इसके बाद आपकी शिकायत दर्ज हो जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.